Tag Archives: dharm

जयंती विशेष -चार मठ स्‍थापित कर आदि गुरु शंकराचार्य ने फूंके थे सनातन धर्म में प्राण…

भारतीय प्राचीन परंपरा में आदि शंकराचार्य को शिव का अवतार माना जाता है। वे वेदांत के अद्वैत मत के प्रणेता थे। उन्‍होंने हिन्‍दू धर्म को फिर से प्राणवान बनाने और देश को एकसूत्र में पिरोने का महती कार्य किया। उन्‍होंने ...

Read More »