मिट्टी के बर्तनों में खाना खाने और बनाने से जुड़ी इन 8 बातों को जरूर जानिए

कई हजार साल से भारत में मिट्टी के बर्तनों का इस्तेमाल किया जाता रहा है क्योंकि मिट्टी के बर्तनों में खाना पकाने से ऐसे पोषक तत्व मिलते हैं, जो हर बीमारी को शरीर से दूर रखते थे.

इस बात को अब आधुनिक विज्ञान भी साबित कर चुका है कि मिट्टी के बर्तनों में खाना बनाने से शरीर के कई तरह के रोग ठीक होते हैं

576747128

हालांकि आज से 200 साल पहले से ही मिट्टी के बर्तनों का प्रयोग होना बंद हो गया. इसके पीछे की मुख्य वजह थी बाजार में एल्युमिनियम के बर्तनों का और उनका ज्यादा इस्तेमाल करना. लेकिन एल्युमिनियम के बर्तनों में खाना बनाना शरीर के लिए हानिकारक है. आइये जानते हैं क्यों मिट्टी के बर्तनों में खाना पकाना चाहिए.

1. भोजन धीरे-धीरे ही पकना चाहिए

390606107

आयुर्वेद के अनुसार, अगर भोजन को पौष्टिक और स्वादिष्ट बनाना है तो उसे धीरे-धीरे ही पकना चाहिए. साथ ही भोजन में मौजूद सभी प्रोटीन शरीर को खतरनाक बीमारियों से सुरक्षित रखते हैं. भले ही मिट्टी के बर्तनों में खाना बनने में वक़्त थोड़ा ज्यादा लगता है, लेकिन इससे सेहत को पूरा लाभ मिलता है. इसके अलावा आयुर्वेद में इस बात को भी बताया गया है कि जो भोजन धीरे-धीरे पकता है वह सबसे ज्यादा पौष्टिक होता है. जबकि जो खाना जल्दी पकता है वो खतरनाक भी होता है.

अगली स्लाइड में पढ़े …

पिछला1 of 4अगला

About Sanatan Times

2 comments

  1. Please hume batayenge ye mitti ke bartan kahan milenge kaunsi website pe uplabdh hai

  2. विनोद प्रजापति

    धन्यवाद जी मेरी न्यूज़ देने के लिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*